Monday, April 15, 2024
Google search engine
HomeVideoफिल्म का फेक रिव्यू और रेटिंग करवाते हैं करण जौहर: खुलासा कर...

फिल्म का फेक रिव्यू और रेटिंग करवाते हैं करण जौहर: खुलासा कर कहा- हमने ऐसे क्रिटिक्स ढूंढे हैं, जो खुद अपना नाम नहीं जानते थे


2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बॉलीवुड के पॉपुलर फिल्ममेकर करण जौहर ने हाल ही में फिल्म रिव्यू और रेटिंग को लेकर बड़ा खुलासा किया है। करण ने बताया है कि जब उन्होंने फ्लॉप फिल्में बनाईं तो नेगेटिव रेटिंग से बचने के लिए उन्होंने नकली रिव्यू और रेटिंग करवाए, जिससे लोगों को लगे कि फिल्म अच्छी है।

हाल ही में करण जौहर गलाटा प्लस की राउंड टेबल कन्वर्सेशन में पहुंचे थे। बातचीत के दौरान करण ने साफ कहा है कि कई बार उन्होंने बुरी फिल्में बनाईं, लेकिन फ्लॉप के डर से उन्होंने नकली पीआर टीम के जरिए फिल्म की झूठी तारीफ करवाई, जिससे लोग फिल्म देखने आएं।

उन्होंने कहा है, कई बार हमारी पीआर टीम नकली लोगों को भेजती है फिल्म की तारीफ करने के लिए। कई बार हम अच्छा वीडियो दिखाना चाहते हैं तो हम उनसे कहते हैं ये जाकर बोल दो। कई बार हम क्रिटिक, क्रिटिक, क्रिटिक करते हैं। हम ऐसे क्रिटिक्स को ढूंढते हैं, जिन्हें फिल्म पसंद आई और जिन्होंने फिल्म को 5 स्टार रेटिंग दी। फिर हम उन लोगों की रेटिंग का एक बड़ा पोस्टर बनवाते हैं। उनमें से कुछ क्रिटिक्स तो ऐसे भी होते हैं, जिन्होंने खुद अपना नाम नहीं सुना होता।

आगे करण ने कहा, सिर्फ हम ही जानते हैं कि हमने उन क्रिटिक्स को कहां से ढूंढा। हम आखिर तक हर मुमकिन कोशिश करते हैं कि फिल्म लोगों तक पहुंचे। जब कोई फिल्म एवरेज होती है तो हम उसे हिट बताते हैं। एक प्रोड्यूसर का काम फिल्म रिलीज से शुरू हो जाता है। अगर फिल्म अच्छी चल रही है तो हम बैठकर कहते हैं कि मुझे कोई इंटरव्यू देने की जरुरत नहीं है, लेकिन अगर फिल्म नहीं चल रही होती तो हमें उसके लिए लड़ना पड़ता है। आपको उसका ओरा क्रिएट करना पड़ता है।

कई बार पकड़ी जाती है चोरी

करण ने बातचीत में बताया है कि कई बार हम जो 4 लाइन्स लिखते हैं फिल्म की तारीफ में, सारे क्रिटिक वही लाइन लिख देते हैं। इससे हम पकड़े जाते हैं कि रिव्यू नकली है। फिर हमें वहां भी क्रिएटिव होना पड़ता है।

अजय देवगन ने सालों पहले लगाए थे करण पर फेक रेटिंग करवाने के आरोप

बताते चलें कि साल 2016 में करण जौहर की फिल्म ऐ दिल है मुश्किल और अजय देवगन की फिल्म शिवाय एक साथ 28 अक्टूबर 2016 को रिलीज हुई थी। क्लैश के बीच करण की फिल्म को बेहतरीन रिव्यू मिले थे, जबकि शिवाय चर्चा में नहीं थे। इस बीच अजय देवगन ने सोशल मीडिया के जरिए बताया था कि करण पैसे देकर अपनी फिल्म के फेक रिव्यू करवाते हैं। इस बहस के चलते ही करण जौहर और अजय का सपोर्ट कर रहीं काजोल की दोस्ती टूटी थी।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments